fbpx

*पीएम मोदी बोले, अंडमान के कोने-कोने में 99 की लहर की लहर फैलाएंगे

पीएम मोदी ने कहा कि नेताजी ने आज ही के दिन 75 साल पहले अंडमान-निकोबार में तिरंगा फहराया था। आजादी के नायक हमेशा अमर रहेंगे। अब से रॉस द्वीप को नेताजी सुभाष चंद्र द्वीप के नाम से जाना जाएगा। पोर्ट ब्‍लेयर में नेताजी स्‍टेडियम में झंडा फहराने के 75 साल पूरे होने के समारोह में वह बोल रहे थे। 30 दिसंबर 1943 की उस ऐतिहासिक घटना को आज 75 वर्ष पूरे हो गए हैं।

उन्‍होंने कहा कि अंडमान निकोबार के कोने-कोने में विकास की लहर फैलाएंगे। अब से हैवलॉक द्वीप को स्वराज द्वीप के नाम से जाना जाएगा। उन्‍होंने कहा कि आज़ाद हिंद सरकार के पहले प्रधानमंत्री सुभाष बाबू ने अंडमान की इस धरती को भारत की आज़ादी की संकल्प भूमि बनाया था। आज उसी की याद में यहां पर 150 फीट ऊंचा ध्वज फहराकर हम अपने इस दिन को देशवासियों की चिरस्मृति में अंकित करने का प्रयास किया है। जब आज़ादी के नायकों की बात आती है तो नेता जी सुभाषचंद्र बोस का नाम हमें गौरव से भर देता है।

सुभाष बाबू का भी ये मानना था कि हम सभी प्राचीन काल से ही एक हैं, गुलामी के समय में इस एकता में छिन्न-भिन्न करने का प्रयास जरूर हुआ है। आज मुझे प्रसन्नता है कि एक भारत, श्रेष्ठ भारत को लेकर नेताजी की भावनाओं को 130 करोड़ भारतवासी एक करने में जुटे हैं। गुलामी के लंबे कालखंड में अगर भारत की एकता को लेकर कोई शक और संदेह पैदा हुआ है, तो वो सिर्फ मानसिकता का प्रश्न है, संस्कारों का नहीं।

Please follow and like us:
%d bloggers like this: