fbpx

*थाने भाजपा से टूटते उत्तर भारतीय , सूत्रों की माने तो गुटबाजी के चलते कार्यक्रम में नहीं हिस्सा ले रहे हैं कार्यकर्ता*

थाने महाराष्ट्र प्रदेश में जैसे – जैसे चुनाव के दिन नजदीक आ रहे हैं वैसे – वैसे थाने भाजपा से उत्तर भारतीय समाजसेवक दूर जाते दिख रहे हैं , एक तरफ जहाँ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री दो उत्तरभारतीयों को मंत्री का दर्जा देकर पार्टी को मजबूत करने में लगे हैं वहीँ सूत्रों की माने तो थाने भाजपा पार्टी में गुटबाजी के चलते उत्तर भारतीय दूर होते दिख रहे हैं जिसका सीधा उदाहरण थाने में 3 जनवरी को विनय सिंह भाजपा अध्यक्ष उत्तर भारतीय मोर्चा द्वारा आयोजित सम्मान समारोह एवं कवि सम्मेलन में सीधे देखने को मिला उक्त कार्यक्रम थाने पश्चिम काशीनाथ घाणेकर हाल में रात्रि 8 बजे से 10 बजे तक आयोजित रहा मगर उक्त कार्यक्रम के आखिरी तक कुर्सियां खाली पड़ी रही जबकि कवियों ने श्रोताओ का भरपूर मनोरंजन किया ,
हम आपको बतादें की ये कार्यक्रम भाजपा उत्तर भारतीय मोर्चा द्वारा आयोजित था और उसका नाम *उत्तर भारतीय परिवार* रक्खा गया था जिसके कारण शिवसेना के उत्तर भारतीय राष्ट्रीय संगठक गुलाब दुबे और थाने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के उत्तर भारतीय मोर्चा अध्यक्ष प्रभाकर ( पप्पू ) सिंह ने भी अपनी उपस्थित दर्ज कराई ,
वहीँ इस कार्यक्रम में भाजपा के ही थाने जिले के पदाधिकारी नदारत दिखे जबकि समूचे थाने जिले में 11 उत्तर भारतीय मण्डल अध्यक्ष हैं और कलवा , मुम्ब्रा , दिवा उत्तर भारतीयों का गढ़ माना जाता है फिर भी पूरे हाल में लगभग 100 लोग ही मौजूद रहे ।

महेंद्र मणि पाण्डेय ( मुम्बई )

Please follow and like us:
%d bloggers like this: